Congress wont be embarrassed if big name is on black money list: P Chidambaram

New Delhi(NDTV): Former Finance Minister P Chidambaram spoke to NDTV on a range of issues, from the black money row to coal reforms. Here are the highlights:

Congress wont be embarrassed if big name is on black money list: P Chidambaram

Congress wont be embarrassed if big name is on black money list: P Chidambaram

The Modi government has done nothing new.

  • Can’t link Congress to individual leaders with Swiss accounts.
  • Taking credit is the advantage of a successor government.
  • Congress name on black money list could be individual transgression.
  • Not the party, individual named will be embarrassed.
  • BJP position on black money identical to that of the Congress.
  • Government’s affidavit in Supreme Court on black money was a U-turn from the BJP’s position.
  • The BJP doesn’t have the grace to admit it did a U-turn on black money.
  • Even UPA said it will disclose names once charges are filed.
  • BJP criticised our stand; now they are taking the same position on black money.
  • We disclosed 18 black money names to Supreme Court.
  • We pushed Swiss authorities to enter into agreement to disclose names.
  • Raised the issue in G20; final declaration spoke of information sharing.
  • Elections were announced before we could have a written agreement.
  • I did not ask to see, nor was I shown the black money names.
  • Jaitley wanted to move from black money to blackmail; why not release the name.
  • If an individual has violated the law, the individual assumes responsibility.
  • Any government in power for 10-15 years is bound to face corruption allegations.
  • Excesses of individuals leave a stain on the government as a whole.
  • I don’t know the facts of Vadra case; I can’t comment on it.
  • Vadra case never came to the Finance Ministry formally
  • May be Vadra case created a perception for the Congress
  • The government’s decision on coal leaves a lot to be desired.
  • The Supreme Court order on coal largely right; but several areas have have thrown up new problems
  • Supreme Court order gave a chance to clean up coal sector without compromising Coal India
  • Barring mines that Coal India needs; all other mines should have opened up.
  • Ours was a coalition government; there was no consensus on coal reforms.
  • Congress morale is low, leadership needs to respond urgently
  • Congress reorganisation long overdue; must start soonest.
  • Nobody has asked anybody to be a sycophant in the party.
  • Sonia Gandhi most acceptable Congress leader; amongst youth it’s Rahul Gandhi.
  • A non-Gandhian can be Congress president in the future. As long as Sonia Gandhi is Congress president, she is numero uno.
  • Government has scored heavily on propaganda; strategy and policy are missing.
  • We dealt with Pakistan with far greater maturity and sobriety.
  • PM’s focus has been more on domestic constituency.
  • PM visit to Japan didn’t yield agreement on civil nuclear cooperation.
  • PM’s meet with President Xi yielded few Gujarat-specific agreements.

नवभारतटाइम्स.कॉम added:

कांग्रेस के सीनियर नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि काला धन रखने वालों की लिस्ट में पार्टी के किसी बड़े नेता का नाम कांग्रेस को कतई शर्मिंदा नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि यह उनका (पार्टी नेता का ) निजी अपराध होगा और इसे पार्टी के खाते में नहीं डाला जा सकता है। चिदंबरम का यह बयान वित्त मंत्री अरुण जेटली के बयान के जवाब में आया है। जेटली ने पिछले दिनों कहा था कि विदेश में बैंकों में काला धन जमा करने वालों की लिस्ट जब हम कोर्ट को सौंपेंगे तो कांग्रेस को शर्मिंदा होना पड़ेगा।

अप्रैल में जब चिदंबरम खुद वित्त मंत्री थे तो लिष्टनश्टाइन की ओर से मिले वहां के बैंकों में भारतीय खाताधारकों के नाम सुप्रीम कोर्ट को सौंपे गए थे। लेकिन तत्कालीन यूपीए सरकार और अब की सरकार ने कहा है कि इन नामों को सार्वजनिक नहीं किए जा सकते हैं। सरकार इसके लिए दोहरे कराधान से बचाव के लिए हुए समझौते के उल्लंघन का हवाला दे रही है।

चिदंबरम ने न्यूज चैनल एनडीटीव से बातचीत में कहा, ‘मैंने न नाम मांगे थे और न मुझे दिखाए गए। इसलिए लिस्ट में किनके नाम हैं, मैं नहीं जानता।’ जेटली के बयान के बाद संभावना जताई जा रही है कि लिस्ट में कांग्रेस के बड़े नेताओं के नाम हैं। चिदंबरम ने कहा कि जेटली का बयान ब्लैक मनी से ब्लैक मेल की तरफ ले जाने वाला है, चुपचाप नाम जारी कीजिए। पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि बीजेपी सरकार का आज वही रुख है, जो हमारा था। उन्होंने कहा, ‘कानूनी दृष्टि से यही सही स्थिति भी है और हमारी निंदा करके वह गलती कर रही थी।’

जेटली के बयान पर इससे पहले पलटवार करते हुए बुधवार को कांग्रेस प्रवक्ता अजय माकन ने कहा था कि मोदी सरकार ‘ब्लैकमेलिंग करने’ का हथकंडा अपनाना बंद करे। साथ ही उन्होंने सरकार को चुनौती दी कि वह पूरी सूचना के साथ सामने आए। अजय माकन ने कहा कि सरकार को ‘अर्द्धसत्य’ और ‘चुनिंदा लीकेज’ से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो भी इसमें लिप्त पाया जाए, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन यह बदले की भावना से प्रेरित नहीं होना चाहिए और यह आधा सच नहीं होना चाहिए।