Fresh Gujarat communal riot: 3 killed, 10 injured in Bharuch district riot

Bharuch(HT): Three persons were killed while 10 were seriously injured in communal clashes in Hansot town of Bharuch district, south Gujarat. Moreover, several shops and vehicles were set on fire in the rioting that began over a minor scuffle about kite flying on Makarsankranti festival in a communally sensitive village.

दंगा: पतंग हिन्दू या मुस्लिम, 3 मरे 10 जख्मी     

“The situation is tense but under control now with adequate police deployment including a team of Rapid Action Force (RAF),” Bharuch collector Avantika Singh Aulakh told HT.

The district collector also directed the mobile companies to stop mobile internet services in the areas in order to prevent spread of clashes in other villages in the area.

While one person died on the spot, two died at a hospital in Surat during the treatment. Ten persons were being treated at hospitals in Hansot, Bharuch and Surat, said local police.

Following the incident, the Gujarat government rushed state DGP and other senior officials to the place to ensure that the clashes don’t escalate.

Armed personnel of the State Reserve Police were sent to Hansot to quell clashes that began after a boy, who belongs to a minority community, was beaten up by a man for chasing kites being flown in Ambeta village during the Makarsankranti festival.

“We are keeping a close watch on the situation,” Bharuch superintendent of police Sachin Ahire said, adding that groups belonging to the different communities started stone pelting which forced the police to open fire in air and lob tear gas shells to disperse the mob.

दंगा: गुजरात में पतंग हिन्दू या मुस्लिम, 3 मरे 10 जख्मी
अहमदाबाद
गुजरात में दक्षिण भरुच जिले के हंसोत शहर में तीन लोगों की मौत और 10 के जख्मी होने के बाद से भारी तनाव की स्थिति है। यह हिंसा दो समुदायों में झड़प के दौरान हुई। बुधवार को एक गांव में दोनों समुदायों को बीच हिंसक झड़प हुई थी। राज्य रिजर्व पुलिस बल के हथियारबंद जवानों को मौके पर भेजा गया है। एक अल्पसंख्यक समुदाय के बच्चे की एक आदमी ने पिटाई कर दी थी। अंबेता गांव में मकरसंक्रांति के मौके पर उड़ाई जा रही पतंग आपस में टकराने के बाद यह झड़प हुई।

कुछ ही में घंटों में पतंग की लड़ाई मजहबी बन गई। इस सांप्रदायिक झड़प का असर हंसोत शहर तक पसर गया। इस दौरान पुलिस ने वारदात को काबू में रखने के लिए कई राउंड फायरिंग की और आंसू गैस के गोले दागे। बेकाबू लोगों ने दुकानों और धार्मिक स्थलों को निशाना बनाया। एक की मौत अंबेता गांव में ही हो गई। दो लोगों की मौत सूरत में इलाज के दौरान एक हॉस्पिटल में हो गई। 10 जख्मी लोगों का इलाज हंसोत, भरूच और सूरत के हॉस्पिटलों में किया जा रहा है।

अब हालात नियंत्रण में है। स्थिति को संभालने के लिए अतिरिक्त बलों को मौके पर बुला लिया गया है। बुधवार को भरूच के सूपेरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस बिपिन अहीर ने कहा कि मौके पर हमारी नजर बनी हुई है। उन्होंने कहा कि लोगों ने इस झड़प के दौरान जमकर पत्थरबाजी की है। एसपी ने कहा कि इस दौरान कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया है।

Posted by on January 15, 2015. Filed under Nation. You can follow any responses to this entry through the RSS 2.0. Both comments and pings are currently closed.